यूपीपीएससी एलटी ग्रेड की परिणाम- न्यूनतम अर्हता अंक की अनिवार्यता

0

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) दिसंबर के अंत तक एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा का परिणाम घोषित कर सकता है। बाधा बन सकती हैं न्यूनतम अर्हता अंक की अनिवार्यता।

The minimum number of marks should be eliminated by the examinations. Many candidates have filed the petition even after the court.

हालांकि इसमें सभी सीटें भर पाना मुश्किल नजर आ रहा है। 68500 शिक्षक भर्ती की तरह इस भर्ती परीक्षा में भी न्यूनतम अर्हता अंक की अनिवार्यता लागू की गई थी। हालांकि, अभ्यर्थी मांग कर रहे हैं कि न्यूनतम अर्हता अंक की अनिवार्यता समाप्त की जाए।

In the past 68500 teachers were the result of the recruitment, in which a large number of candidates could not even get minimum qualification marks and thousands of vacancies were vacant. In such a situation, recruitment of LT grade teacher can be the same condition.

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के लिए 15 मार्च से आवेदन की प्रक्रिया शुरू हुई थी। इसके तहत राजकीय स्कूलों में 15 विषयों में 10768 शिक्षकों की भर्ती होनी है। इनमें 5364 पद पुरुष और 5404 पद महिला शिक्षकों के हैं। भर्ती केवल लिखित परीक्षा से होनी है।

Only4UPTET Best Vacancy:
1 of 5

यह परीक्षा 29 जुलाई को प्रदेश में 39 जिलों के 1760 केंद्रों में आयोजित की गई थी। परीक्षा के लिए कुल सात लाख 63 हजार 317 अभ्यर्थियों ने आवेदन किए थे, जिनमें से 52.3 फीसदी अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए थे। परीक्षा का परिणाम दिसंबर के अंत तक जाने की उम्मीद है।

The examination was conducted on July 29 in 1760 centers of 39 districts in the state. A total of seven lakh 63 thousand 317 candidates applied for the examination, out of which 52.3% of the candidates were in the examination. The result of the exam is expected to be by the end of December.

आयोग अभी आरओ/एआरओ-2017 की प्रारंभिक परीक्षा और आरआई टेक्निकल परीक्षा का परिणाम घोषित करने की तैयारी कर रहा है। इसके बाद एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती का परिणाम घोषित किया जाएगा।

पिछले दिनों 68500 शिक्षक भर्ती का परिणाम आया था, जिसमें बड़ी संख्या में अभ्यर्थी न्यूनतम अर्हता अंक भी प्राप्त नहीं कर सके और हजारों पद खाली रह गए। ऐसे में एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती की भी यही हालत हो सकती है।

the mandatory requirement of minimum qualification was applied in this recruitment examination. However, the candidates are demanding that the minimum qualifying marks be eliminated.

हालांकि, अभ्यर्थी इस मांग को लेकर लगातार आंदोलन कर रहे हैं। कि परीक्षाओं से न्यूनतम अंक की अनिवार्यता समाप्त की जाए। कई अभ्यर्थियों ने तो कोर्ट भी याचिका दाखिल कर रखी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.