माध्यमिक शिक्षकों की समस्याओं एक मंच पर problems of secondary teachers

0

माध्यमिक शिक्षकों की समस्याओं को एक मंच पर लाते हुए शुक्रवार को शिक्षक नेता शिक्षा निदेशालय में खूब गरजे। कहा कि शिक्षकों की समस्याओं के प्रति सरकार का रवैया काफी उपेक्षा है, इसलिए संगठन को संघर्ष के मार्ग का चयन करना पड़ा।

समान कार्य के लिए समान वेतन पर सरकार से आरपार की लड़ाई लड़ने का एलान किया गया। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के बैनर तले हुए धरना प्रदर्शन में विधान परिषद में नेता शिक्षक दल ओम प्रकाश शर्मा ने हुंकार भरी तो एमएलसी जगवीर किशोर जैन, एमएलसी हेमसिंह पुंडीर, एमएलसी सुरेश कुमार त्रिपाठी और एमएलसी ध्रुव कुमार त्रिपाठी ने भी शिक्षकों के हित से खिलवाड़ होने पर करारा जवाब देने की बात कही।

ओम प्रकाश शर्मा ने कहा कि सरकार शिक्षकों की समस्याओं के बारे में गंभीर नहीं लगता है। ऐसी स्थिति में, संगठन को लड़ने के लिए मजबूर किया गया है

Only4UPTET Best Vacancy:
1 of 26

उन्होंने कहा कि अब यह एक दिन के प्रदर्शन के प्रदर्शन का संकेत है, जिसके बाद हर जिले में और राज्य की राजधानी लखनऊ में भी बिजली प्रदर्शित होगी।

उन्होंने कहा कि वित्त के बिना स्कूलों के शिक्षकों की सेवा की शर्तों और उसी काम के लिए समान वेतन पर संघर्ष होगा। शिक्षकों को मुफ्त चिकित्सा सुविधाओं और पुरानी पेंशन पुनर्स्थापना व्यवस्था की मुख्य मांग में शामिल किया जाएगा।

बताया कि निदेशालय स्तर पर लंबित प्रकरणों के लिए जुलाई में मंडलवार क्रमिक अनशन होगा। एमएलसी सुरेश कुमार त्रिपाठी ने कहा कि निदेशालय में फाइलें जल्दी निस्तारित नहीं होती हैं। अफसर मनमानी करते हैं। कहाकि सभा अनुमति दे तो वह | खुद धरने पर बैठकर इस मनमानी का जवाब दे सकते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.