पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर शिक्षकों का प्रदर्शन

0

For the pension restoration, on February 18, they will perform and arrest in Lucknow.

पुरानी पेंशन बहाली को लेकर संयुक्त संघर्ष संचालन समिति के पदाधिकारियों ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट पर इकठ्ठ होकर सांकेतिक गिरफ्तारी दी। इससे पहले शिक्षकों ने धरना-प्रदर्शन कर शहर में बाइक रैली निकाली। पेंशन बहाली को लेकर 18 फरवरी को लखनऊ में प्रदर्शन व गिरफ्तारी देंगे। बाइक रैली का नेतृत्व समिति के अध्यक्ष सुरेश कुमार शर्मा और संयोजक अनिल यादव ने किया।

सुरेश कुमार शर्मा ने कहा कि शिक्षक, कर्मचारी, और अधिकारी बोर्ड परीक्षाओं में शामिल नहीं होंगे। हड़ताल पर रोक के कठोर फैंसले ने सरकार की मंशा जाहिर होती है। सरकार टाईमपास कर रही है। पहले उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा से लेकर मुख्य सचिव तक वार्ता का दौर चला, फिर समाधान पर विचार करने के लिए समिति की बैठके होती रही। अब जब कर्मचारियों ने महाड्ताल का निर्णय ले लिया है, तो सरकार ने यूपी एस्मा लगाने का कठोर निर्णय लिया है।

पेंशन बहाली को लेकर 18 फरवरी को लखनऊ में प्रदर्शन और गिरफ्तारी देंगे।

जिला विद्यालय निरीक्षक ने बताया कि यूपी बोर्ड परीक्षा में बेसिक शिक्षा विभाग के 700 शिक्षक-शिक्षिकाओं की तैनाती की गई है। कुल 98 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं जिसमे 39 सहायता प्राप्त और 59 वित्तविहीन विद्यालय शामिल हैं। कुल 2500 कक्ष निरीक्षक की तैनाती की गई है।

District School Inspector told that 700 teachers of the Basic Education Department have been deployed in the UP board exam. A total of 98 examination centers have been created, including 39 assisted and 59 non-financed schools. Total 2500 cell inspectors have been deployed.

Only4UPTET Best Vacancy:
1 of 29

सरकार ने पुरानी पेंशन बहाली मंच को दिए आश्वासन

Government gives assurance to old pension restoration forum

हड़ताल से कामकाज प्रभावित होने को सूचना के चलते सरकार ने धार दोपहर मंच के अफ डॉ. दिनेशचंद शर्मा और संघर्ष समिति के चैमन शिवबरन सिंह यादव को पत्र भेजकर समझौता वार्ता के लिए बुलाया था। पर, एक घंटा की वार्ता के बावजूद कोई समाधान नहीं निकल पाया।

Because of the information being affected by the strike, the government had called for the negotiation by sending a letter to Dr Dineshchand Sharma and the Chairman of the Committee to Chaman Shivbarna Singh Yadav. But, despite the one-hour talks, no solution was found out

भले कर्मचारियों का अंश काटा गया हो या न काटा गया हो। इस पैशन को आयकर से मुक रखने का भी । आश्वासन दिया गया लेकिन मंच के नेता इससे सहमत नहीं हुए। उन्होंने मुख्य सचिव के समक्ष गारंटीड पैशन की मांग , लेकिन इस पर मुख्य सचिव कोई ठोस आश्वासन नहीं दे पाए। बैठक में अपर मुख्य सचिव कार्मिक, अपर मुख्य सचिव वित्त, अपर मुख्य सचिव सुचना, प्रमुख सचिव गृह भी शामिल थे। था। हरदेव सिंह, एमएलसी चेत नारायण सिंह ने भी वार्ता में हिस्स लिया। मंच के मीडिया प्रभारी मनोज । श्रीवास्तव ने बताया कि वार्ता विफल होने के बाद नेताओं ने महाहड़ताल जारी रखने का निर्णय किया।


Leave A Reply

Your email address will not be published.